9+ योग दिवस पर कविता International Yoga Day Poem in Hindi

International Yoga Day Poem in Hindi जीवन में स्वास्थ्य सबसे बड़ा धन होता है जिसे हमेशा संयोजक रखना बहुत जरूरी है। स्वस्थ शरीर से ही व्यक्ति को हर कार्य करने में मन लगता है। योग एक ऐसी कला है, जिससे व्यक्ति अपने आपको स्वस्थ रख सकता है। यहां तक की योग से व्यक्ति कई प्रकार के शारीरिक बीमारियों से उभर सकता है। योग कला हमारे प्राचीन संस्कृति की देन है, हमारे पूर्वज योग किया करते थे। हर वर्ष 21 जून को पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है।

योग दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य योग से होने वाले लाभ, योग से स्वस्थ रहने के बारे में जागरूकता फैलाना होता है। वर्तमान समय में इंसान स्वास्थ्य संबंधित चीजों को नजरंदाज कर देते हैं। ऐसे व्यस्त जीवन में इंसान अपने स्वास्थ्य से पहले नीजि कामों को प्राथमिकता देते हैं। जिससे परिणाम स्वरूप कई लोग आसानी से बीमारी की चपेट में आ जाते हैं। इसलिए आज हम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के सम्मान में योग दिवस पर कविता – Poem on Yoga day in Hindi शेयर कर रहे हैं।

इन योग दिवस पर कविता, योग पर हिंदी कविता का प्रयोग आप अपने आसपास हो रहे योग दिवस कार्यक्रम एवं रैली आयोजन में कर सकते है। आप यहां दिए प्रस्तुत किए गए सर्वश्रेष्ठ Poem on Yoga in Hindi का उपयोग कर सकते है।

International Yoga Day Poem in Hindi – हम योग करें

International Yoga Day Poem in Hindi

योग करें,
हम योग करें।

दूर सभी,
हम रोग करें।

वरदान मिला,
जो हमको।

हम उसका,
उपयोग करें।

तन-मन स्वस्थ,
बनाता है।

आलस दूर,
भगाता है।

सदा सुखी,
वह रहता है।

कहें,
संजीवनी बूटी।

जीवन को,
दे नए प्राण।

ऐसा,
आर्शीवाद मिला।

होता सभी,
का कल्याण।

उद्देश्य यहीं,
इसका है।

सृजन स्वस्थ,
समाज का हो।

भविष्य,
बनेगा बेहतर।

ध्यान यदि बस,
आज का हो।

संदेश,
यहीं फैलाओ।

इसको सारे,
लोग करें।

वरदान मिला,
जो हमको।

हम उसका,
उपयोग करें।

योग दिवस पर कविता – योग करें

आओ मिलकर,
योग करें।

देश को रोग,
मुक्त करें।

जीवन में,
नित्य क्रिया योग।

जीवन उसका,
है निरोग।

सूर्य को,
उठकर प्रणाम करें।

तन-मन से,
प्राणायाम करें।

स्वास्थ्य हमारा,
अच्छा है।

मानों सबकुछ,
अच्छा है।

आओ मिलकर,
योग करें।

देश को,
रोगमुक्त करें।

योग पर हिंदी कविता – ये है योगा

ये है,
योगा।

जो भी,
इसको करेगा।

वो,
स्वस्थ होगा।

ये है,
योगा।

जो भी,
रोज करेगा।

लाभ उसे,
होगा।

ये है,
योगा।

आसान,
जो करेगा।

उसका,
विकास होगा।

ये है,
योगा।

जो जोर,
से हंसेगा।

उसका खून,
बढ़ेगा।

ये है,
योगा।

ये है,
योगा।

Yoga Day Poem in Hindi – करते हैं अगर योग

करते हैं अगर,
आप योग।

तो उम्रभर,
रहोगे निरोग।

प्रकृति ने हमें,
ये देह दिया।

करना है,
इसका सदुपयोग।

ये तो भारत,
की कहानी है।

जो सदियों ही,
पुरानी है।

इस इंजन को,
चलाना है।

तो यही,
पद्धति अपनानी है।

योग करें,
मन को शांत।

तन को करें,
निरोगा और।

दिमाग को,
दे शांति जो।

अगर योग को,
दी एक कोशिश।

तो दूर,
हो जाएगी,
सब भ्रान्ति।

दवा दारू,
सारे ही उपचार,
किए।

प्रतिरोधी क्षमता को,
एक तरफा कर दिए।

शांत मन,
और सुंदर,
काया।

यहीं तो,
है सब,
योग की,
माया।

योग एक,
साधना एक,
प्राणायाम है।

जो हमारे,
जीवन को,
देता नया,
आयाम है।

योग की माया,
करें मन की,
शुद्धि और
दे कुशाग्र बुद्धि।

योग मनुष्यों,
को ध्यान से,
जोड़ता है।

मन की भ्रान्ति,
को तोड़ता है।

करो जो,
अगर योग,
सुबह तो।

देता है,
दिन भर,
की स्फूर्ति।

और जो,
संध्या कर,
लिए कुछ आसान।

तो मिलती,
है अनिद्रा,
से मुक्ति।

ध्यान रखें,
बस तो,
एक बात।

निरोगी काया,
ही योग,
की माया है।

Yog Diwas Par Kavita – मानव योग

नित्य जो,
करता,
मानव योग।

रहे जीवन,
में,
सदा निरोग।

चुस्ती फुर्ती,
वह दिखलाए।

आलस उसके,
पास न आए।

तन मन रहता,
सदा ही,
स्वस्थ।

लगे कभी,
न,
कोई रोग।

नित्य जो,
करता,
मानव योग।

रहे जीवन,
में,
सदा निरोग।

कर सकते,
सब,
बूढ़े-बच्चे।

आसन होते,
सारे अच्छे।

अपना लेता,
है,
जो इनको।

उत्तम जीवन,
लेता भोग।

नित्य जो,
करता,
मानव योग।

रहे जीवन,
में,
सदा निरोग।

पुरे मन से,
करें जो,
ध्यान।

पता है,
वहीं सच्चा,
ज्ञान।

जीवन सुखमय,
बन जाता है।

ईश्वर संग,
होता संयोग।

नित्य जो,
करता,
मानव योग।

रहे जीवन में,
सदा निरोग।

Yoga Day Poem – मिलकर योग करें

International Yoga Day Poem in Hindi

तन मन और,
आत्मा को,
उर्जा देकर।

मुफ़्त में,
जीवन को,
निरोग करें।

आओ मिलकर,
योग करें।

आत्म बल को,
प्रबल करें हम।

तन मन को,
चुस्त दुरुस्त करें।

आत्म बल,
को प्रबल करें।

तन मन को,
चुस्त दुरुस्त करें।

इसे नित्य,
कर्म बना,
ले हम।

इसे जीवन में,
अपना ले हम।

फिर घेर सके,
ना रोग कोई।

जीवन को,
आरोग्य करें।

आओ मिलकर,
योग करें।

योग भारत,
की संस्कृति,
है।

इसे दुनिया में,
फैलाएं हम।

बीमारी देश,
को लूट रही,
है।

देश लूटने से
बचाएं हम।

जन जन कास
उत्तम स्वास्थ्य हो,

कुछ ऐसा,
संयोग करें
हम।

आओ मिलकर,
योग करें।

Poem on Yoga in Hindi – योगमय जीवन से

धरती के,
पावन,
संगम में।

शीश अपना,
झुकाते चलो।

इस योगमय,
जीवन से।

भारत विजयी,
बनाते चलो।

करके दो पल,
योग,
जीवन निरोग,
बनाते चलो।

इस योगमय,
जीवन से,
भारत विजयी,
बनाते चलो।

प्रभा कि,
इस लालिमा,
में।

जगमग इसे,
बनाते चलो।

हाथों से हाथ,
मिलाकर,
सब भारत,
विजयी बनाते,
चलो।

ये तो एक,
अवसर है।

दुनिया को,
योग कराते,
चलो।

ये देन,
है भारत की।

भारत विजयी,
बनाते चलो।

उन्नति के,
राहों में।

कदमों से,
कदम मिलाते,
चलो।

ये दौर है,
भारत का।

भारत विजयी,
बनाते चलो।

Poem on Yoga Day in Hindi – योग को अपनाएंगे

योग को,
हम अपनाएंगे।

जीवन को,
स्वस्थ बनाएंगे।

है ध्यान योग,
कुछ ऐसी विधा।

जीवन में,
घोलती अमृत सुधा।

योग बढ़ाता,
बच्चों का याददाश्त।

ध्यान बढ़ाता,
उनमें आत्मविश्वास।

नौजवानों में,
स्फूर्ति भरता।

कर्मठ हो और,
करें विकास।

बूढ़ों को देता,
सुकून यह।

उच्छवासों से भरता,
जूनून यह।

संस्कारों की,
कूंजो है यह।

तरक्की का है,
मजमून यह।

तन मन को,
स्वस्थ बनाएंगे।

जन मन में,
इसे फैलाएंगे।

देश को,
स्वर्ग बनाएंगे।

योग को,
हम अपनाएंगे।

FAQ

भारत में योग दिवस की शुरुआत कब हुई थी?

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 21 जून 2015 को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का उद्घाटन किया था।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस क्यों मनाया जाता है?

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य योग से होने वाले लाभ, योग से स्वस्थ रहने के बारे में जागरूकता फैलाना होता है।

21 जून को कौन सा दिवस मनाया जाता है?

हर वर्ष 21 जून को पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है।

योग का जन्म कैसे हुआ?

ऐसा माना जाता है कि जब से सभ्‍यता शुरू हुई है तभी से योग किया जा रहा है। योग के विज्ञान की उत्‍पत्ति हजारों साल पहले हुई थी, पहले धर्मों या आस्‍था के जन्‍म लेने से काफी पहले हुई थी। योग विद्या में शिव को पहले योगी या आदि योगी तथा पहले गुरू या आदि गुरू के रूप में माना जाता है।

ये भी जरूर पढ़ें:

अंतिम शब्द –

आशा रखते हैं उपलब्ध कराई गयी International Yoga Day Poem in Hindi आपको अच्छी लगी होगी। अगर यह योग दिवस पर कविता, योग पर हिंदी कविता अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें। इसके बारे में अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Share on:

Leave a Comment